Category: हिंदी सेक्स स्टोरी

हिंदी सेक्स स्टोरी चूत चुदाई, गांड चुदाई लंड हिंदी सेक्स स्टोरी

Choot Chudai, Lund ki Desi Hindi sex Story

hindi Sex Stories from Desi Indian girl, bhabhi

दोस्त की माँ, बुआ और बहन की चुदाई-4

थोड़ी देर बाद आँख खोल कर देखा कि, बुआ जी की नज़र मेरे खड़े हुए मोटे लण्ड पर टिकी थीं. हैरत भरी निगाहों से मेरे लम्बे और मोटे लण्ड को देख रही थीं. कुछ देर बाद उन्होंने आवाज दे कर कहा, दीनू बेटा उठ जाओ, अब घर चलना है! मैंने कहा, ठीक है! और उठकर […]

दोस्त की माँ, बुआ और बहन की चुदाई-3

क्या गजब की ताकत है तुम्हारे मोटे लण्ड मे! मैंने उत्तर दिया- कमाल तो आपने कर दिया है! आज तक तो मुझे मालूम ही नहीं था कि अपने लण्ड को कैसे काम में लिया जाता है? यह तो आपकी मेहरबानी है! जो कि आज मेरे लण्ड को आपकी चूत की सेवा करने का मौका मिला. […]

दोस्त की माँ, बुआ और बहन की चुदाई-2

जब वापस आया तो आँगन में सब बैठ कर बाते कर रहे थे. मैं भी उनकी बातों में शामिल हो गया और हंसी मजाक करने लगा. बातों बातों में बुआ जी माँ से बोलीं, भाभी- दीनू बेटा अच्छी मालिश करता है. आज खेत में काम करते करते, अचानक! मेरी कमर में दर्द उठा तो इसने […]

दोस्त की माँ, बुआ और बहन की चुदाई-1

लोगों ने मुझे और सत्य कथा लिखने का हौसला दिया. इसलिए फिर से आप लोगों के पास एक सच्ची कहानी पेश कर रहा हूँ, आशा है पिछली कहानियों की तरह यह कहानी भी आप लोगों को पसन्द आएगी. यह कहानी मेरे दोस्त की माँ, बुआ और बहन की चुदाई की है. यह बात आज से […]

बाली उम्र चढ़ती जवानी की पहली चुदाई

कनिका को ये नहीं पता था कि उसके द्वारा सेक्स के बातें बता देने से संध्या के मन में भी चुदाने की इच्छा जागृत हो गयी थी। वो मेरे घर आकर मुझे पूछती- रोहित भैया, कल आपने कनिका के साथ क्या क्या किया। मैं उससे बोलता- तुझे क्या काम है? और टाल देता था। वो […]

मैं और तुम कभी आशना थे

फिर भी तुम्हारी आँखों का सूखा नमक यादों की गर्द के साथ उड़ता हुआ मेरे ताज़ा ज़ख़्मों को गला रहा है जाने किसका कसूर है जिसको तुम भुगत रही हो जिसको मैं भुगत रहा हूँ एक दोस्ती से ज़्यादा तो मैंने कुछ नहीं चाहा तुमको जितना दिया तुमसे जितना चाहा… सब दोस्ती की इस लक़ीर […]

पड़ोसन चाची चूत चुदाकर माल बनी

वो एक दिन सारिका और हम तीनों को घुमाने ले गया। सारिका का पति उस समय बाहर गया हुआ था। उस दिन काफ़ी रात हो गयी थी। हम सब अपनी वैन में ही थे। सारिका तो कार पर ही बैठे बैठे सो गयी थी। उसका पल्लू नीचा हो गया और डीप गला होना के कारण […]

मैं और भाभी

भाभी दरथे होए बोलि वो मेरि गलथि थि। भाभी कि बाथ सुने के बद भि मैं कमोश नहि हुअ मैन उनहे किस्स करथा रहा और फिर मैने भाभी के चेसत पेर किस्स किया वो मचलने लगि लैकिन वो मुचे दूर हथना चहथि थि थो मैने भाभी के बूबस को दबना शुरू किया और उनके बलुस […]

दिपाली की चुदाई

सच दोसतो मैं तो देखता हि रहा गया। दीपाली कि चूचियन एकदम गोरि और तनि हुयि थी और जैसा कि मैं खयलो मेन सोचता था उस सेय भि अधिक सुनदेर थि। उसकि गोरि चूचियोन केय बिच मेन हलकेय गुलबि रनग केय दो छोतेय-2 सिरसले थे और उनमे बिलकुल गुलबि रनग केय निप्पले थे जो कि […]

तीन बहनों की चुदाई

अमित फिर पलनग पर निता के बगल मे अपने जगह बैथ गये। उनहोने निता का एक हथ अपने हथ मे ले लिया और धिरे से पुचा, “कया मैं तुमहरे हथ को चुम सकता हुन?” निता एह सुनते ही पहले अपनि बहनो के तरफ़ देखी और फिर अपनि हथ अमित के हथोन मे धिला चोर दिया। […]